Login Form

If you are not registered please Sign Up|Forget Password

signup form

If already registered please Login

30 Nov, -0001 Blog

लटका आदमी

एक आदमी को उल्टा लटका दिया गया है। उल्टा होने पर भी वह खुश है| जो हो रहा है उस होने में भी वह खुश है| यह सांसारिकता से बहुत ऊपर उठ गया है, एक तरह से आध्यात्मिकता की ओर बढ़ गया है| उसके हाथ दिखाई नहीं दे रहे हैं और उसकी कमर के पीछे हैं। यह कार्ड आपके जीवन में जोड़-तोड़ के बारे में सूचित करता है| यह कार्ड उथल-पुथल अथवा भविष्य में परिवर्तन होने की ओर संकेत कर रहा है. शायद यह परिवर्तन आपके नियंत्रण में ना रहें, लेकिन आपके द्वारा लिया गया निर्णय अधिक महत्वपूर्ण है, वह अच्छा या बुरा कुछ भी हो सकता है लेकिन एक बार आपने यदि आगे कदम बढ़ा दिया तब उसके बाद आप पीछे नहीं हट सकते हैं| स कार्ड का आना व्यक्ति के प्रश्न की प्रवृति पर निर्भर करता है. यदि आध्यात्म से जुड़ा प्रश्न है तब यह कार्ड ज्ञान को दिखाता है| इस कार्ड का संबंध आत्म समर्पण से भी जोड़ा जाता है|

भूतकाल  

यदि अपने अतीत से कुछ बातों को जाने देते हैं अर्थात कुछ बातों को छोड़ देते हैं तब आपका अतीत आपके आध्यात्मिक जीवन में नए मूल्यों को लेकर आएगा|

वर्तमान

आपको यह अवश्य ध्यान में रखना चाहिए कि आप जो मदद कर रहे हैं वह महत्व नहीं रखती है| आप किसकी मदद कर रहे हैं यह बात अधिक महत्व रखती है|

भविष्य

इस कार्ड के आने का अर्थ है कि भविष्य की बहुत सी बातों से अभी आप अनभिज्ञ हैं, इसलिए आप कोई भी नया प्लान या लक्ष्य निर्धारित करने से पहले सावधानी अवश्य बरतें|

भारत के सर्वश्रेस्ठ ज्योतिषाचार्यो से परामर्श करें

  • अपने दैनिक राशिफल,जन्म कुंडली निर्माण वर -कन्या की जन्म कुंडली मिलान,महामृत्युंजय जाप, राहु शान्ति, एवं जीवन की समस्याओं के बारे में जानने के लिये सशुल्क सम्पर्क करें

    Book Your Appointment

Leave a reply

Download our Mobile App

  • Download
  • Download