Login Form

If you are not registered please Sign Up|Forget Password

signup form

If already registered please Login

Blog

17 Apr, 2018 Blog

Astromitram : जानिए अक्षय तृतीया 2018 पूजन का शुभ मुहूर्त / Akshya Tratiya 2018 Shubh Muhurt

YouTube

ज्योतिषाचार्य पंडित दयानंद शास्त्री बताते हैं की शुभ कार्यों के लिए अन्य दिनों से अक्षय तृतीया का दिन इतना ज्घ्यादा शुभ होता है कि इस दिन आप बिना किसी ज्घ्योतिषीय सलाह या मुहूर्त के विवाह आदि कार्य संपन्घ्न कर सकते हैं। अगर आप विवाह करना चाहते हैं और आपको कोई शुभ मुहूर्त नहीं मिल पा रहा है तो आप अक्षय तृतीया के दिन बिना मुहूर्त के विवाह कर सकते हैं।
इस वर्ष अक्षय तिथि की शुरुआत 18 अप्रैल की सुबह 4.47 बजे होगी और समापन 19 अप्रैल की सुबह 3 बजकर 3 मिनट पर होगा।

अक्षय तृतीया 2018: पूजा मुहूर्त और सोना खरीदने का सही समय
वर्ष 2018 में अक्षय तृतीया 18जी अप्रैल  बुधवार के दिन मनाई जाएगी।
अक्षय तृतीय में लक्ष्मीनारायण पूजन का समय
 शुभ मुहूर्त = 05ः56 से 12ः20 तक।
मुहूर्त की अवधि = 6 घंटा 23 मिनट

-ज्योतिषाचार्य पंडित दयानंद शास्त्री के अनुसार इस दिन नए स्वर्ण आभूषण धारण करने वाली विवाहित स्त्री अखण्ड सौभाग्यवती होतो है। इस तिथि का सर्वसिद्धि मुहूर्त के रूप में भी विशेष महत्व है। कहा जाता है कि इस दिन बिना कोई पंचांग देखे कोई भी शुभ व मांगलिक कार्य जैसे विवाह, गृह-प्रवेश, वस्त्र आभूषणों की खरीददारी या घर, भूखंड, वाहन आदि की खरीददारी से संबंधित कार्य किए जा सकते हैं। नवीन वस्त्र, आभूषण आदि धारण करने और नई संस्था, समाज आदि की स्थापना या उद्घाटन का कार्य श्रेष्ठ माना जाता है। 

18जी अप्रैल 2018, बुधवार 05ः56 से 25ः29़ तक।
05ः56 से 25ः29़ बजे के मध्य चौघड़िया मुहूर्त:
प्रातः मुहूर्त (लाभ, अमृत) = 05ः57 दृ 09ः09
प्रातः मुहूर्त (शुभ) = 10ः45 दृ 12ः21
दोपहर मुहूर्त (चर, लाभ) = 15ः33 दृ 18ः45
सायं मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) = 20ः08 दृ 24ः20
ज्योतिषाचार्य पंडित दयानंद शास्त्री ने बताया की  इस बार अक्षय तृतीया 2018 पर लगभग 11 साल सर्वसिद्धि योग बन रहा है। इस महायोग के कारण सिंह और वृश्चिक राशि के लोगों को धन का लाभ हो सकता है। इस राशि के लोगों को आखा तीज पर कोई शुभ समाचार मिल सकता है। आप किसी वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने जा सकते हैं। मां लक्ष्घ्मी के पूजन के लिए ये दिन बहुत शुभ होता है और आप इस दिन कोई वाहन या नया मकान आदि खरीद सकते हैं।मान्घ्यता है कि इन दिनों पर सूर्य और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है।हिंदू मुहूर्त में चौत्र शुक्घ्ल पक्ष की प्रथम तिथि, अश्विन मास की दसवीं तिथि, वैशाख मास की तीसरी तिथि, कार्तिक मास के शुक्घ्ल पक्ष की प्रथम तिथि को शुभ माना जाता है। मान्घ्यता है कि इन दिनों पर सूर्य और चंद्रमा की चमक बढ़ जाती है। सोमवार के दिन रोहिणी नक्षत्र में अक्षय तृतीया आने पर इसकी शुभता और भी ज्घ्यादा बढ़ जाती है।

भारत के सर्वश्रेस्ठ ज्योतिषाचार्यो से परामर्श करें

  • अपने दैनिक राशिफल,जन्म कुंडली निर्माण वर -कन्या की जन्म कुंडली मिलान,महामृत्युंजय जाप, राहु शान्ति, एवं जीवन की समस्याओं के बारे में जानने के लिये सशुल्क सम्पर्क करें

    Book Your Appointment

Leave a reply

Download our Mobile App

  • Download
  • Download